Industria

US Elections: ट्रंप के बेटे ने शेयर किया विवादित नक्शा, कश्मीर को बताया PAK का हिस्सा

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में मतदान के बीच डोनाल्ड ट्रंप के बेटे ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक विवादित नक्शे को पोस्ट किया है. इस नक्शे में कश्मीर को पड़ोसी देश पाकिस्तान का हिस्सा बताया गया है. 
 

नई दिल्लीः अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में मतदान के बीच डोनाल्ड ट्रंप के बेटे ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक विवादित नक्शे को पोस्ट किया है. डोनाल्ड ट्रंप जूनियर द्वारा दिखाए गए दुनिया के नक्शे में जो बाइडेन और अपने पिता डोनाल्ड ट्रंप के समर्थक देशों को लाल और नीले रंगों में बांटा है. मैप में भारत को अपने पिता के विरोधी उम्मीदवार जो बाइडेन का समर्थक देश बताया गया है. हैरानी की बात ये है कि इस नक्शे में कश्मीर को पड़ोसी देश पाकिस्तान का हिस्सा बताया गया है. 

नक्शे में लाल और नीले रंगों में दिखाए गए ट्रंप-बाइडेन के समर्थक


डोनाल्ड जूनियर ने अमेरिका में राष्ट्रपति चुनावों की वोटिंग के दौरान इस नक्शे को ट्वीट किया है.  नक्शे में ट्रंप को समर्थन देने वाले देशों को लाल और बाइडेन के समर्थक देशों को नीले रंग से दिखाया है. नक्शे में पाकिस्तान और रूस को डोनाल्ड ट्रंप का समर्थक देश बताया गया है जबकि भारत को जो बाइडेन का. मैप में भारत के अलावा चीन, मेक्सिको और लाइबेरिया को भी जो बाइडेन को समर्थन देने वाले देश बताए गए हैं.

Okay, finally got around to making my electoral map prediction. #2020Election #VOTE pic.twitter.com/STmDSuQTMb

— Donald Trump Jr. (@DonaldJTrumpJr) November 3, 2020

खराब हवा को लेकर भारत को जिम्मेदार ठहरा चुके हैं ट्रंप


इसके कुछ दिन पहले डोनाल्ड ट्रंप के बेटे ने भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी और अपने पिता की दोस्ती को असाधारण बताया था. उन्होंने कहा था कि उन्हें पीएम मोदी और पिता की दोस्ती काफी पसंद है. हालांकि डोनाल्ड ट्रंप ने जो बाइडेन संग एक प्रेसिडेंशियल डिबेट में पर्यावरण के मुद्दे को लेकर भारत पर निशाना साधा था. डिबेट के दौरान ट्रंप ने क्लामेट चेंज में खराब हवा की गुणवत्ता को लेकर चीन और रूस के अलावा भारत को जिम्मेदार बताया था. अब ताजा घटनाक्रम में डोनाल्ड जूनियर ने एक ऐसा नक्शा शेयर किया जिसमें कश्मीर घाटी को पाकिस्तान का हिस्सा बताया गया है. 

ये भी पढ़ें-US: हो सकता है कि चुनाव नतीजे तुरंत नहीं आएं, देरी का रहा है इतिहास

वहीं दूसरी ओर लद्दाख में चीन से गतिरोध के बीच भी अमेरिका हमेशा ही भारत को साथ देने की बात करता आ रहा है. दोनों देश के प्रधान एक दूसरे के साथ खड़े होने की बात करते हैं.

Related Articles

Close